टोल बूथ पर लगी लंबी लाइन से राहत, अब चलती गाड़ी से कटेगा टैक्स

delhi, tax,
Relief from long line at toll booth, now tax will be deducted from moving vehicle

नई दिल्ली: देश में लगातार नई सुविधाएं शुरू की जा रही हैं ताकि देश के नागरिकों को हर क्षेत्र में आसानी हो. टोल टैक्स वसूलने के लिए कई नई सुविधाएं भी शुरू की गई हैं। जब FASTag आया तो इसे टोल वसूली में एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम बताया गया, वहीं अब नए तरीके से टोल वसूलने की तैयारी चल रही है.

road, tax, delhi,
Relief from long line at toll booth, now tax will be deducted from moving vehicle

चलती गाड़ी से काटा जाएगा टोल टैक्स

बताया जा रहा है कि सरकार ने इसके लिए तैयारी भी कर ली है और जल्द ही यह नई व्यवस्था लागू कर दी जाएगी. जानकारी के मुताबिक अब नए तरीके से सैटेलाइट मूविंग व्हीकल में ही टोल में कटौती होने जा रही है. इससे लोगों को काफी फायदा भी होगा। हाल ही में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने संसद में इस नई योजना की जानकारी दी।

वाहनों में लगेंगे जीपीएस

अब देश में सैटेलाइट से टोल वसूली की पद्धति को लागू करने का काम किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि इस नई योजना से वाहन चालकों को अतिरिक्त टोल नहीं देना होगा. बुधवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इस योजना की जानकारी दी. उन्होंने कहा है कि देश में अत्याधुनिक तकनीक के जरिए ही टोल वसूली पर काम हो रहा है, जिससे कोई भी टोल देने से नहीं बच पाएगा.

टोल टैक्स चोरी पर लगाम लगेगी

वहीं इस नए तरीके से टोल चोरी पर भी रोक लगने वाली है. नितिन गडकरी के मुताबिक वाहन निर्माताओं को नंबर प्लेट में जीपीएस लगाने को कहा गया है, जिससे अब सेटेलाइट के जरिए चलती वाहनों में ही टोल वसूली होगी. वर्तमान में यदि कोई व्यक्ति 10 किमी टोल रोड का उपयोग करता है, तो उसे पूरा टैक्स देना पड़ता है, लेकिन सैटेलाइट सिस्टम के माध्यम से चालक को उतना ही टोल देना होगा जितना वह सड़क का उपयोग करता है।

फास्टैग से भी नहीं सुधरे हालत

दरअसल पहले टोल वसूली नकद में की जा रही थी, जिससे टोल चोरी और धोखाधड़ी के मामले भी सामने आ रहे थे, जिसके बाद ही फास्टैग लाया गया. लेकिन हालत अभी भी है। नितिन गडकरी ने खुद बताया है कि अभी भी कई लोग फास्टैग के जरिए टोल नहीं दे रहे हैं और सिर्फ कैश दे रहे हैं. इसलिए अब टोल वसूली के लिए नया तरीका आजमाया जा रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *